IQNA

मस्जिदे शज्रह में हाजियों का ऐहराम बांधना

जैसे ही तीर्थयात्री ज़ि अल-हिज्जह के महीने में प्रवेश करते हैं, वह तीर्थयात्री जो पैगंबर मुहम्मद (स.व.) और जन्नतुल-बक़ी की ज़ियारत के बाद मक्का जाने के लिए मदीनना छोड़ते हैं। भगवान के घर के तीर्थयात्री मुहरिम होने के लिए मस्जिद शज्रह जाते हैं, जहां वे इहराम बांधते हैं और लैब्बैक कहते हुऐ मक्का जाते हैं।
2019/08/07   
10:32